Introduction of Computer system


कंप्यूटर का परिचय व पीढ़ियां :-

कंप्यूटर का परिचय :-

कंप्यूटर एक मशीन है जोकि हर इंसान के जीवन के लगभग सभी क्षेत्रों में इस्तेमाल किया जा रहा है | इंटरनेट ओर मोबाइल फोन की क्रांति ने ज्ञान के नये आयाम स्थापित किए हैं | कंप्यूटर पर सतत अनुसंधान एवं विकास की गति के साथ हम यह कह सकते हैं कि यह हमें जीवन में नए-नए अनुभवो से अवगत करवाता रहेगा| पर्सनल कंप्यूटर गणना, डिजाइन और प्रकाशन प्रयोजन के लिए छात्रों इंजीनियरों रचनात्मक लेखकों द्वारा इस्तेमाल किया जाता है| कंप्यूटर ने सीखने की प्रक्रिया को बढ़ावा दिया है |विद्यार्थी कक्षा में ही नहीं बल्कि जब वो यात्रा कर रहा है या pc के साथ घर पर बैठकर भी पढ़ सकते है| इंटरनेट प्रोद्योगिकी से हर व्यक्ति के दरवाजे पर सभी जानकारी लाना संभव हुआ लोग अब पूछताछ, बैंकिंग, शॉपिंग और कई अधिक अनूप्रयोगो के लिए कंप्यूटर का उपयोग कर रहे है|अब हम सूचना सुपर हाईवे के युग से गुजर रहे हैं |जहां सभी प्रकार की जानकारी सिर्फ कंप्यूटर का एक बटन दबाने से प्राप्त की जा सकती है |



कंप्यूटर की पीढ़ियां :-

हम कंप्यूटर पीढ़ियां को पांच मुख्य अवधियो में विकसित कर सकते हैं हम पीढ़ी के कंप्यूटरो को इनके द्वारा उपयोग में ले जाने वाली तकनीक के आधारित परिभाषित किया गया है |समय की गुजरने के साथ नये प्रोद्योगिकीय नवाचारो ने जगह ली है|
(1) प्रथम पीढ़ी |
(2) दूसरी पीढ़ी |
(3) तीसरी पीढ़ी |
(4) चतुर्थ पीढ़ी |
(5) पंचम पीढ़ी |

प्रथम पीढ़ी :-

पहली पीढ़ी के कंप्यूटर में मुख्य इलेक्ट्रॉनिक घटक के रूप में वैक्यूम टयूबो एव डाटा भंडारण के लिए चुंबकीय ड्रम का इस्तेमाल किया गया |उनका आकार काफी बड़ा था यहां तक कि उनके रखने के लिए कक्ष की आवश्यकता होती थी मांगे थे वे बहुत महंगे थे गर्मी का उत्सर्जन अत्यधिक था |जिनकी वजह से उन्हें ठंडा करना बहुत आवश्यक होता था और साथ ही उनका रखरखाव करना बहुत कठिन काम था |पहली पीढ़ी के कंप्यूटर को ऑपरेट करने के लिए मशीन भाषा का इस्तेमाल उसकी प्रोग्रामिंग भाषा के रूप में किया जाता था पहली पीढ़ी कंप्यूटर इनपुट पंच कार्ड और कागज टेप के द्वारा दिया जाता था पहली पीढ़ी के कंप्यूटर एक समय में एक ही समस्या को हल करने में सक्षम थे|


दूसरी पीढ़ी :-

दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में इलेक्ट्रॉनिक घटक के रूप में ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया गया था| ट्रांजिस्टर कुशल तेज कम बिजली खपत और पहली पीढ़ी के कंप्यूटर की तुलना में सस्ते और विश्वसनीयता थे हालांकि वे अत्यधिक गर्मी का उत्पादन किया करते थे| लेकिन वे अधिक विश्वसनीय थे| इस पीढ़ी में चुंबकीय कोर प्राइमरी मेमोरी और चुंबकीय टेप में चुंबकीय डिस्क सेकेंडरी भंडारण उपकरणों के रूप में इस्तेमाल किया था |कोबोल और फोरटोंन के रूप में उच्चतमस्तरीय कंप्यूटर प्रोग्रामिंग भाषा इस पीढ़ी में शुरू की गई थी


तीसरी पीढ़ी :-

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में ट्रांजिस्टर के साथ इंटीग्रेटेड सर्किट का इस्तेमाल किया गया था |आईसी ट्रांजिस्टर प्रतिरोध और कैपेसिटर की एक बड़ी संख्या को एक साथ संगठित कर के रख सकता है| जिसके कारण कंप्यूटर के आकार को अधिक छोटा बनाया जा सकता है |इस पीढ़ी के कंप्यूटर द्वारा इनपुट/आउटपुट के लिए कीबोर्ड मॉनिटर का इस्तेमाल किया गया था |ऑपरेटिंग सिस्टम की अवधारणा को भी इसी समय पेश किया गया था| इस पीढ़ी में समय साझा और बहु प्रोग्रामिंग ऑपरेटिंग सिस्टम की अवधारणा को पेश किया गया था उच्चस्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा की शुरुआत इस पीढ़ी में हुई जैसे -पास्कल एव बेसिक इत्यादि


चतुर्थ पीढ़ी :-

चतुर्थ पीढ़ी इस पीढ़ी में माइक्रो प्रोसेसर की शुरुआत हुई जिनमें हजारों आईसी एक एकल चिप एक सिलिकॉन चिप पर निर्मित की जा सकती थी इस पीढ़ी के कंप्यूटर बहुत बड़े पैमाने पर एकीकृत सर्किट तकनीक इस्तेमाल किया करते थे! वर्ष 1971 में इंटेल 4004 विकसित किया गया था इसमें एक एकल चिप पर एक कंप्यूटर के सभी घटक स्थित होते थे |इस प्रयोग की वजह से छोटे आकार के कंप्यूटर ने जन्म लिया जिसे डेक्सटॉप कंप्यूटर या पर्सनल कंप्यूटर का नाम दिया गया था इस पीढ़ी में समय के बंटवारे की अवधारणा वास्तविक समय डिस्ट्रिब्यूटेड ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल किया गया था और साथ ही नई उच्चस्तरीय प्रोग्रामिंग भाषाओं जैसे c ,c++,डाटाबेस को इस पीढ़ी में इस्तेमाल किया गया था |


पंचम पीढ़ी :-

पंचम पीढ़ी आज की पीढ़ी के रूप में एक नई तकनीक उभर कर आई है |जिसे ULSI(अल्ट्रा लार्ज स्केल इंटीग्रेशन) कहा जाता है जिसके अंतर्गत माइक्रो प्रोसेसर चिप में 1000000 तक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण तक शामिल किया जा सकता था !इस पीढ़ी में कृत्रिम बुद्धि की अवधारणा वोइस मोबाइल संचार ,सेटेलाइट संचार ,सिग़नल डाटा प्रोसेसिंग को आरंभ किया गया |उच्चस्तीय प्रोग्रामिंग भाषाओं में जैसे java ,vb और NET की शुरुआत इस पीढ़ी में हुई |कंप्यूटर मशीनों के विकास के क्षेत्र में प्रगति के कारण कंप्यूटर व्यापक व उपयोगी हो गया हैं और हमारे जीवन के सभी क्षेत्रों में इस्तेमाल किया जाएगा ! नियमित रूप से चल रहे अनुसंधान और विकास के साथ ही निश्चित है कि हम समय गुजरने के साथ में नए-नए नवाचार अनुभव करते रहेंगे |


Post a Comment

0 Comments