सामान्य ज्ञान - प्रमुख फसलों का जन्म स्थान और कृषि के प्रकार-रबी,खरीफ,जायद की फ़सल और इसके प्रकार

 प्रमुख फसलों का जन्म स्थान  फसलो के बारे में
प्रमुख फसलों का जन्म स्थान

फसल जन्म स्थान
धान भारत व इण्डोनेशिया
मक्का मध्य प्रदेश
गेहूँ मध्य एशिया
तम्बाकू दक्षिणी अमेरिका
रबड़ दक्षिणी अमेरिका (ब्राज़ील)
उरद भारत
मसूर चीन
अमरुद अमेरिका
टमाटर मेक्सिको
बाजरा अफ्रीका
जौ चीन
अरहर अफ्रीका
सोयाबीन चीन
मूंग भारत
ज्वार भारत
चाय चीन
कहवा ब्राज़ील
आलू पेरू
गन्ना भारत

कृषि फसलों का प्रकार - भारत में मुख्य तीन फसलें हैं -

1. रबी की फसल

2. खरीफ की फसल

3. जाय की फसल

1. रबी की फसल

  • बुआई -अक्टूबर - नवम्बर
  • कटाई - मार्च-अपे्रल
  • प्रमुख फसलें - गेहूँ , जौ, सरसों, चना, राई, अलसी, मटर, सूरजमुखी, जीरा, धनिया, तारामीरा, इत्यादि
  • मावठ - शीतकालीन वर्षा (चक्रवातीय वर्षा) रबी की गोल्डन ड्रोप्स |

2. खरीफ की फसल

  • बुआई - जून-जुलाई
  • कटाई - सितम्बर - अक्टूबर
  • प्रमुख फसलें - धान (चावल), ज्वार, बाजरा, मक्का, कपास, गन्ना, तिल, सोयाबीन, मंगफली, मूंग, मोठ, जूट, अरहर, ग्वार आदि।
  • सूड़ - खरीफ की फसल से पहले खेत से झाड़-फूस निकालना |
  • निनाण - खरीफ की फसल की बिजाई के बाद से खरपतवार हटाना |
  • लावणी - फसल की कटाई को लावणी कहते हैं।

3. जाय की फसल

  • बुआई - मार्च - अप्रेल
  • कटाई - मई-जून
  • प्रमुख फसलें - तरबूज, खरबूजा, ककड़ी, टमाटर, चारा इत्यादि |

तीनो फसलो के एक - एक उदाहरण निम्न हैं -

गेहूँ (रबी की फसल) :-

  • गुणवत्ता को ध्यान में रखकर गेहूँ को दो श्रेणियों में विभाजित किया गया है: मृदु गेहूँ एवं कठोर गेहूँ।
  • भारत विश्व का 12 प्रतिशत गेहूँ का उत्पादन करता है।
  • इस फसल का 85 प्रतिशत क्षेत्र भारत के उत्तरी मध्य भाग तक केन्द्रित है।
  • डयूरम की खेती पंजाब एवं मध्य भारत में और डाइकोकम की खेती कर्नाटक में की जाती है।
  • गेहूँ उत्पादन में भारत का विश्व में दूसरां स्थान है।
  • पहला - चीन और तीसरा- USA का है।

ज्वार (खरीफ की फसल) :-

  • ज्वार :- ज्वार का जन्म स्थान अफ्रीका व भारत
  • मिट्टी - भारी दोमट, हल्की दोमट और एल्यूवियल
  • कुल बोए क्षेत्र के 5.3 प्रतिशत भाग पर ज्वार बोया जाता है।
  • महाराष्ट्र राज्य अकेला देश की आधे से अधिक ज्वार उत्पादन करता है।
  • दक्षिण राज्यों में यह खरीफ तथा रबी दोनों ऋतुओं में बोया जाता है
  • तापमान - 25 से 35 से.ग्रे. और वर्षा - 40 से 60 सेमी. होनी चाहिए |
  • अन्य प्रमुख ज्वार उत्पादक - कर्नाटक, मध्य प्रदेश, आन्ध्रप्रदेश
  • उत्पादक देश - संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत, पाकिस्तान, रुस, चीन

तरबूज (जायद की फसल) :-

  • मैदानी क्षेत्रों में- मध्य फरवरी-मध्य मार्च।
  • बीज की मात्रा- प्रति हे० 4 से 5किग्रा० बीज पर्याप्त होता है।
  • नदियों के किनारे- अक्टूबर-नवम्बर।
  • तरबूज़ एक लम्बी समय वाली फ़सल है|
  • राजस्थान की रेतीली भूमि में तरबूज़ की खेती अच्छी होती है|
  • मैदानी क्षेत्रों में इसकी बुवाई समतल भूमि में या डौलियों पर की जाती है|

Post a Comment

0 Comments