टाइगर हिल, दार्जिलिंग

टाइगर हिल (अंग्रेज़ी: Tiger hill; 2,590 मीटर) भारत के पश्चिम बंगाल राज्य के दार्जिलिंग ज़िले में, दार्जिलिंग शहर के पास, एक पर्यटन स्थल है। यहाँ से कंचनजंघा और अन्य पर्वत चोटियों का मनोरम दृश्य दिखता है, साथ ही यहाँ से विश्व की सर्वोच्च पर्वत चोटी माउंट एवरेस्ट भी देखी जा सकती है। टाइगर हिल, यूनेस्को की विश्व धरोहरों में शामिल दार्जिलिंग हिमालयी रेलवे के घूम रेलवे स्टेशन के पास स्थित है, जो भारत का सबसे ऊँचाई पर स्थित रेलवे स्टेशन है।

सूर्योदय के समय अपनी शानदार नज़ारों के लिए सबसे प्रसिद्ध है, जहां आप कम ऊंचाई पर मद्धिम किरणों के सामने कंचनजंगा और माउंट एवरेस्ट की चोटियों का अवलोकन कर सकते हैं।[2][3][4] कपासी बादलों के बीच बर्फ से ढके पहाड़ों का शानदार दृश्य पूरे देश के पर्यटकों को आकर्षित करता है। दिलचस्प बात यह है कि घूम पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग हिमालयी पहाड़ी क्षेत्र में एक छोटा पहाड़ी इलाका है। यहाँ स्थित रेलवे स्टेशन 2,258 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है और दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे, जो यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शामिल है का तथा भारत का सबसे ऊंचा रेलवे स्टेशन है।[5] टाइगर हिल हमेशा से पर्यटकों की पहली पसंदीदा पर्यटन स्थल रहा है।[6] इसे दार्जलिंग में स्थित "पहाड़ियों की रानी" के रूप सेे भी जाना जाता है।

कंचनजंघा की चोटियों को सूर्योदय के समय सूर्य उगने से पहले यहाँ से देखना एक प्रमुख पर्यटन आकर्षण है। टाइगर हिल और माउंट एवरेस्ट के बीच की सीधी दूरी 107 मील (172 किलोमीटर) है। स्वच्छ आकाश की दशा में दक्षिण की ओर स्थित कुर्सियांग शहर भी यहाँ से दिखाई देता है और बीच में तीस्ता, महानंदा, बालासोर और मेची नदियाँ भी दक्षिण की ओर प्रवाहित होती दिखती हैं। तिब्बत में स्थित चुमल राई पर्वत यहां से 84 मील (135 किलोमीटर) दूर है, जो कोलरा पर्वत के ऊपर दिखाई देता है। सेंचल वन्यजीव अभयारण्य टाइगर हिल के बहुत ही समीप स्थित है।

Source :- Wikipedia

Post a comment

0 Comments